Digital Politics - Hindi Essays| Digital Rajneeti essay|aaj ki rajneeti p Nibandh| UPSC Essays| SSB essays

Digitalization in Politics - Hindi

Digitalization in Politics - Hindi
डिजिटल राजनीति
 
 हर किसी ने डिजिटल पेमेंट, डिजिटल शिक्षा, डिजिटल क्लासरूम, डिजिटल मीटिंग के बारे में जरूर सुना ही होगा, पर  डिजिटल राजनीति.......के बारे में शायद ही सुना होगा। ||Digitalization in Politics - Hindi||

_राजन  पाठक 
 

डिजिटल राजनीति

समय  के साथ साथ धीरे धीरे राजनीति का  भी डिजिटलीकरण  होने लगा। शायद ही पहले किसी ने सोचा होगा कि कभी राजनीति में इतनी अधुनिकता आ जायेगी। तभी तो जनसभा कब वर्चुअल रैली में परिवर्तित हो गई पता ही नहीं चला।अगर राजनीति के इतिहास के बारे में देखें तो इसका इतिहास रामायण काल से भी अति प्राचीन है। परन्तु बढ़ते आशावाद और तीखी आलोचना के वातावरण में हम आखिर कैसे समझें कि भारत में डिजिटल राजनीति क्या है ?

आज राजनीति ने एलइडी स्क्रीन लगाकर लोगों को जोड़ ही लिया। डिजिटल माध्यम ने राजनीति को नया विस्तार दिया है और इसे लोगों के लिए सहभागी बनाया है। यूं भी कह सकते हैं कि इस काल में डिजिटल माध्यम से प्रजातंत्र को एक अलग ही दिशा मिल गयी है,  इसी कारण  यह  लोकतंत्र के पाचवे स्तबम के प्रवल दावेदार के रूप में भी देख जा सकता है।  इससे सबसे बड़ा लाभ यह है कि कोई भी समय हो लोगों से संपर्क बनाया जा सकता है।
विद्वानों के अनुसार, राजनीति ही एक ऐसा माध्यम है जिससे किसी भी राष्ट्र की तस्वीर बदल सकती है, जिससे कोई देश अपनी एक नई पहचान बना सकता है और यह सत्य है कि किसी भी राष्ट्र का भविष्य उसमें चल रहे राजनीति पर ही निर्भर करती है।

शुरुआती दौर में भारत में राजनीति एक जनसंपर्क/जनसभा के शुरु हुई। समाजसेवी लोगो से घर-घर जाकर उनसे बात करते थे और जनसंपर्क बनाये रखते थे। ऐसा नहीं है  कि  आज इस प्रक्रिया में कुछ ज्यादा बदलाव हुआ है बस इतना हुआ है कि आज अधिकांश जगहों पर लोगो से संपर्क और उनके साथ चर्चाएँ महज़ चुनाव तक ही सीमित रह गई हैं।

You are reading डिजिटल राजनीति

आज तो बिहार से लेकर कई अन्य राज्यों में भी वर्चुअल जनसभाओं की भी शुरुआत हो गई है, जिसमे जगह जगह पर सैकड़ो बडी बडी स्क्रीन लगाई गई होती है जिससे लोग अपने आस पास ही रहकर भी राजनेताओं को सुन सकते हैं।
अगर शुरुआती दौर की बात की जाए तो पहले लोग अपनी स्वेच्छा से किसी नेता के रैली में झंडी लगाकर, पॉकेट बैच लगाकर शामिल होते थे। परन्तु आज की राजनीति में लोगों को पैसे देकर भारी संख्या में भीड़ पहले से ही निश्चित करी हुई होती है। जिसे देखकर भी आम जनता का उत्साह बढ़ता है।
Digitalization in Politics - Hindi

आज इस डिजिटलीकरण के युग में सोशल मीडिया भी काफ़ी  महत्वपूर्ण  भूमिका निभा रहा है। पहले अगर किसी भी राजनीतिक दल को अपना प्रचार प्रसार करना होता था तो वे अपने जनप्रतिनिधियों को जनता के बीच  भेजते थे । साथ ही पर्चो को छपवा कर जिसमें वे अपनी की गई उप्लब्धियों को गिनाते थे या किये जाने वाले कार्यों को इंकित करते थे। मगर आज जिन भी दलों को अपना प्रचार प्रसार करना होता है तो वे सोशल मीडिया पर  अपना एक पेज या आई डी बनाते है। फिर एक टीम का गठन कर उनके पार्टी के प्रचार प्रसार की जिम्मेदारी उस टीम को सौंप देते हैं । फिर वह टीम उसे लोगों तक फैलाने में लग जाती हैं और वाक़ई वे सफल भी होते हैं। आज कई दल अपने प्रचार के लिए व्हाट्सएप ग्रुप का भी इस्तेमाल करते हैं।    नेताओ  की लोकप्रियता  उनके  ट्विटर  और फेसबुक  के फॉलोवर्स के  बल- बुते  मापी  जाने लगी है|

||Digital  Politics - Hindi Essays||

Digitalization in Politics - Hindi

अब विज्ञापन  योजना के  जमीन  पर उतरने से पहले ही लोगो तक  पहुंचने  लगे है | यहाँ तक कि आज सरकार की योजनाओं से अगर जनता तक पैसे भेजने हो तो उसका लाभ भी सीधे जनता तक डिजिटलीकरण के माध्यम से पहुँचा दिया जाता है औऱ इसमें समय भी बहुत कम लगता है। बल्कि पहले योजनाओं को जनता तक पहुचने में कई दिन लग जाते थे।
आज इस डिजिटलीकरण के युग में राजनीति भी इससे अछूत नहीं रह पाई।


Thank You for reading Digital Politics - Hindi| UPSC essays










Read the English translation of the above article.

Digital Politics -English essays

Digitalization in Politics - Hindi
digital politics

Everyone must have heard about digital payment, digital education, digital classroom, digital meeting, but hardly heard about digital politics.
_Rajan Pathak

Digital Politics

Digital politics gradually began to digitize with the passage of time. Hardly anyone would have thought that at some time, such modernity will come in politics. That is when the public meeting turned into a virtual rally. If we look at the history of politics, its history is even more ancient than the Ramayana period. But in the atmosphere of growing optimism and sharp criticism how do we understand digital politics in India. Today politics has connected people by putting LED screens. 

You are reading a translated article

The digital medium has given a new extension to politics and has made it interactive for the people. You can also say that democracy has got a different direction in this period through the digital medium. That is why it can also be seen as a proud contender for the fifth stanza of democracy. People can be connected at any time.
 According to scholars, politics is the only means by which the picture of any nation can change. A country can create a new identity. It is true that the future of any nation depends on the politics going on in it. Politics in India started in the early stages of a public relations / public meeting. Social workers used to talk to them from house to house and maintain public relations. It is not that there has been a lot of change in this process today. It has happened that in most places, contact with people and discussions with them are limited to elections.

You are reading a translated article

Today, from Bihar to many other states, virtual public meetings have also started, in which hundreds of big screens are installed in the place so that people can listen to politicians while staying near them. If we talk about the initial phase, first people voluntarily joined the rally of a leader by flagging it and putting a pocket batch. But in today's politics, a huge crowd has already been fixed by giving money to people. Seeing This also increases the enthusiasm of the general public. 

Digitalization in Politics - Hindi
@essaylikhnewala
Pic by @mediawork.studio
Today in this era of digitization, social media is also playing a lot of vital roles. Earlier, if any political party had to spread its publicity, then they used to send their public representatives to the public.  But today all the parties which have to spread their publicity, they make their own page or ID on social media. Then a team is formed and entrusts the responsibility of propagating his party to that team. Then that team starts spreading it to the people and they are also successful. Today many parties also use the WhatsApp group for their promotion. Advertisements reach faster than work through digitization.

Digitalization in Politics - Hindi
@essaylikhnewala
Pic by@mediawork.studio
Even today, if the money is to be sent to the public through the schemes of the government, then its benefit is directly passed on to the public through digitization and it takes very little time. Rather, it used to take several days before the schemes reached the public. Today, even in this era of digitization, politics could not remain untouchable.
Thank you for reading Digital Politics - Hindi (translated article)|UPSC essays


Previous
Next Post »

No comments:

Post a Comment

Thank you for reading. Stay tuned for more writeups.